बॉलीवुड के 5 विलेन जिन्होंने अपने दमदार एक्टिंग से दर्शकों का दिल जीत लिया, आपको भी इनके बारे में जानना चाहिए

Amrish Amjad Rami

अमरीश पुरी – इन्होने पंजाबी, हिंदी सिनेमा के साथ-साथ अन्य भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय फिल्म उद्योगों में प्रतिष्ठित खलनायक की भूमिका अदा की है । भारतीय दर्शक इन्हे शेखर कपूर की हिंदी फिल्म मिस्टर इंडिया में मोगैम्बो के रूप में इनकी भूमिका के लिए सबसे ज्यादा पसंद करते है। पुरी ने सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए तीन फिल्मफेयर पुरस्कार जीता है।

अमजद खान – ये एक अभिनेता और फिल्म निर्देशक थे। इन्होंने लगभग बीस वर्षों के करियर में 132 से अधिक फिल्मों में काम किया। वह अभिनेता जयंत के बेटे थे। उन्होंने ज्यादातर हिंदी फिल्मों में खलनायक की भूमिकाओं के लिए लोकप्रियता हासिल की। इनकी सबसे प्रसिद्ध 1975 की क्लासिक शोले में गब्बर सिंह और मुकद्दर का सिकंदर में दिलावर की भूमिकाएँ थीं।

रामी रेड्डी – इन्हें इनकी नकारात्मक भूमिकाओं, चरित्र भूमिकाओं और कॉमेडी टाइमिंग के लिए जाना जाता है। ये एक प्रसिद्ध खलनायक थे और इनकी विशिष्ट तेलंगाना बोली के साथ एक अद्वितीय शैली थी। इन्होंने अंकुशम फिल्म में अपने संवाद “स्पॉट पदाथा” से प्रसिद्धि हासिल की। इन्हें हिंदी फिल्म लोहा में टकला की भूमिका के लिए काफी प्रसिद्धि हासिल हुई।

मुरली शर्मा – ये मुख्य रूप से तेलुगु और हिंदी फिल्मों में काम करते हैं। मुरली शर्मा ने 130 से अधिक फीचर फिल्मों में अभिनय किया है जिनमें तेलुगु, हिंदी, तमिल, मराठी और मलयालम सिनेमा शामिल है। मुरली शर्मा को अधिधि फिल्म में कैसर की भूमिका के लिए जाना जाता है। इन्होंने इस फिल्म में खलनायक कैसर की रूप में बेहतरीन अभिनय प्रस्तुत किया हैं।

मुकेश तिवारी – इन्हें मुख्यतः नकारात्मक और हास्य भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है। इन्होंने 1998 में फिल्म चाइना गेट से फिल्म उद्योग में प्रवेश किया। इन्हें द लीजेंड ऑफ भगत सिंह, गंगाजल और गोलमाल में इनके काम के लिए जाना जाता है। इन्होंने फिल्म गंगाजल में बच्चन यादव के रूप में खलनायक की बेहतरीन भूमिका अदा की है।